जनवरी 24, 2020
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, SBI

SBI Aleart: जान लें ये बात नहीं तो बंद हो जायेगा आपका ATM कार्ड

SBI सहित कई अन्य बैंक ग्राहकों के खाते से प्रति वर्ष 500 मिलियन रुपए हैक कर लिए जाते हैं.

एक नजर:

  • एसबीआई के हर ग्राहकों को बदलवाना होगा अपना एटीएम कार्ड
  • एटीएम कार्ड का बदलाव फ्रॉड और हैकिंग से सुरक्षा के लिए की जा रही है.
  •  स्टेट बैंक ऑफ इंडिया सहित कई अन्य बैंकों में फ्रॉड  होते रहते हैं.
  •  अब मैग्नेटिक एटीएम कार्ड नहीं बल्कि ईवीएम एटीएम कार्ड लागू होगा।
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, SBI
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का कहना है कि जिस भी बैंक ग्राहकों के पास पुराना मैग्नेटिक एटीएम कार्ड है उसे जल्द ही ईवीएम चिप वाला डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के साथ रिप्लेस कराने के लिए नजदीकी बैंक से संपर्क करें।  स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का यह कहना इसलिए है कि प्रतिवर्ष भारत में कई अन्य तरीकों से बैंक के सिस्टम को चूना लगाकर लोगों के खातों से पैसे उड़ा ले जाते हैं. यह लोग हैकर्स हो सकते हैं जो कि बहुत ही ज्यादा स्मार्ट होते हैं.  क्योंकि यह सभी लोग बैंक के पावरफुल सिक्योरिटी सिस्टम को चकमा देने में सक्षम होते हैं.

 SBI ने कितने दिनों के अंदर इस काम को पूरा करने का समय दिया है?

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का कहना है कि जिन लोगों के पास SBI  का डेबिट या क्रेडिट कार्ड है

उन्हें जल्द ही 31 दिसंबर 2019 तक अपने पुराने मैग्नेटिक एटीएम कार्ड को नए ईवीएम लगे चिप वाले एटीएम को प्रेफर करना शुरू कर दें.  क्योंकि टेक्नोलॉजी प्रतिदिन बढ़ती ही रहती है हर संभव तरीके से लोगों के बैंक बैलेंस को सुरक्षित रखने का प्रयास किया जा रहा है. परंतु टेक्निकली कुछ कमी की वजह से कुछ लोगों का बैंक से रुपए साफ हो जाते हैं.  कभी-कभी यह भी देखा गया है कि लोग एटीएम रूम में तो पहुंचते हैं, परंतु वहां पर अपने कार्ड डिटेल्स को लोगों के साथ साझा कर देते हैं क्योंकि उन्हें एटीएम से पैसे निकालने नहीं आते हैं.

ऐसे हो सकती है आपके बैंक खाते का सफाया

फ्रॉड होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे कि अगर आपके बैंक लिंक मोबाइल नंबर पर कोई भी ओटीपी आता है तो आप अनजान व्यक्ति से शेयर कर देते हैं जिसे कि नहीं करना चाहिए।  यह सिर्फ बैंक का ही सवाल नहीं है बल्कि आपसे कभी भी कोई भी व्यक्ति किसी भी तरह से आपके मोबाइल में आए ओटीपी को पूछे तो आप उसे मना कर दें क्योंकि वह व्यक्ति न सिर्फ आपके बैंक खाते को चुना लगा सकता है बल्कि आपके पर्सनल डिटेल्स को चुराकर आपके खिलाफ कभी भी इस्तेमाल कर सकता है जिसका सजा आप को भुगतना पड़ सकता है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *