Spread the love

कोरोना के मार देश में हर एक सेक्टर पड़ी है देश ही नहीं दुनिया भर में कोविड-19 की वजह से बेरोजगारी की दर में लगातार इजाफा हुआ है भारत में बहुत से लोग पिछले

Advertisement
कुछ समय से नौकरियों से हाथ धो बैठे हैं और कई लोगों की नौकरियों पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं और कई कंपनियों ने सैलरी कट भी कर दिए है जबकि अनलॉक 1.0 के दौरान जून महीने में एक बार फिर से नौकरियों के लिए भर्ती में तेजी देखी जा रही है|

 सॉफ्टवेयर कंपनी में 70% गिरावट देखने को मिली है

हालांकि अभी भी भर्ती हो मैं वह तेजी नहीं देखी गई है जो कोरोना महामारी से पहले थी लेकिन फिर भी यह एक अच्छा संकेत माना जा रहा है कोरोना के दौरान इस दौर में करीबन 70% गिरावट देखी गई थी जो पहले कभी नहीं देखी गई आपको बता दें इस समय जो नौकरियों में तेजी आई है वह व्हाइट कॉलर जॉब्स है| दरअसल व्हाइट कॉलर जॉब्स होती है जिसमें ज्यादा सिल्क लोग काम करते हैं स्किन लोग काम करते हैं और उनकी सैलरी भी काफी ज्यादा होती है इन नौकरियों में दिमाग का खेल ज्यादा होता है|

बजाएं फिजिकल मेहनत के जून महीनों में अनलॉक 1.0 के दौरान नौकरियों में तेजी देखने को मिली है जबकि टैलेंट को लेकर डिमांड की तुलना अगर कोरोना महामारी के पहले के दौरा से करें तो करीब 30 से 60% कम है| यह नौकरियां आईटी सॉफ्टवेयर कंपनी, इन फार्मास्यूटिकल, कंपनी बायोटेक्नोलॉजी, बिजनेस प्रोसेस, आउटसोर्सिंग सेवाएं मेडिकल हेल्थ केयर सेवाएं बैंकिंग और फाइनेंस ऑफिस इन सूरत में सबसे ज्यादा निकल रही है