December 11, 2019

Google search alert: गूगल ने जारी किया ये लिस्ट, अब सर्च नही कर सकते हैं ये शब्द

गूगल सर्च इंजन काफी प्रभावशाली तथा प्रचलित सर्च इंजन है. इस सर्च इंजन का मकसद सिर्फ इतना रहता है कि इसमें जो भी शब्द डाले जाए उसके बदले में उनको सही और सटीक उत्तर मिले. कभी-कभी हम कुछ सर्च करते हैं उसका रिजल्ट हमें गूगल के होम पेज पर ही मिल जाता है बजाय उस आर्टिकल के अंदर जाए बिना. गूगल सर्च इंजन अपने बेहतरीन टेक्नोलॉजी को यूज करके यूजर इंटरफेस को बड़ा ही कमाल का बनाता है.

वहीं अगर बात करें सबसे पुराने सर्च इंजन में से एक याहू की तो याहू आज भी सर्च करने वाले बॉक्स को पेट के साइड में छोटे रूप में डाला हुआ है. और सामने में बहुत सारे बिना जरूरी के चीजें, आर्टिकल तथा विज्ञापन पड़ा रहता है. इससे जीसस काफी ज्यादा परेशान होते हैं. वहीं अगर बात करें गूगल सर्च इंजन की तो गूगल सर्च इंजन पुरानी समय से लेकर आज तक अपने सर्च वाले बॉक्स को बहुत ही बड़ा करके दिखाता है.


और इस सर्च इंजन में गूगल असिस्टेंट के आ जाने के बाद गूगल का एक मोनोपोली क्रिएट हो चुका है. पहले गूगल के सर्च इंजन गूगल सर्च बॉक्स में शब्दों को टाइप करके खोजा जाता था आज भी खोजा जाता है परंतु गूगल असिस्टेंट के आ जाने के बाद बिना टाइप किए शब्दों को खोजने के बाद रिजल्ट इस तरीके से आता है कि मानो कोई इंसान उसका उत्तर दे रहा है इससे यूजर्स काफी प्रभावित तथा आसान महसूस करते हैं.

तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि गूगल सर्च इंजन में क्या सर्च नहीं करना चाहिए जिससे आपको कभी भी किसी भी तरीके का समस्या का सामना ना करना पड़े क्योंकि दोस्तों मैं आपको बता दूं कि आज बहुत तरह की बैंकिंग फ्रॉड हो या फिर मोबाइल के जरिए बैंकों का एग्जिट पा लेना हैकर के लिए काफी आसान हो चुका है इस चक्कर में कोई भी पड़ सकता है इसीलिए नीचे दिए गए हैं लाइनों को ध्यान से पढ़िए.

बैंकिंग के लिए गूगल में वेबसाइट ढूंढना: 

दोस्तों मैं आप सभी को एक बात बता दूं कि अगर कोई भी व्यक्ति गूगल में बैंक के ऑफिशियल वेबसाइट को सर्च करता है तो गूगल भी उस व्यक्ति को उसी बैंक के ऑफिसियल वेबसाइट को ही दिखाता है. परंतु मैं आप सभी को एक बात बता दूं कि गूगल में जो भी सर्च रिजल्ट आता है वह एक एसईओ का पार्ट होता है. यानी कि सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करके कोई भी अपनी वेबसाइट को ऊपर ला सकता है

अक्सर या कई बार देखा गया है कि ऑफिशियल वेबसाइट के नीचे या ऊपर ऐसे भी सर्च रिजल्ट पाए गए हैं जो कि पूरी तरह से फिशिंग वेबसाइट होती है. और वह सिर्फ आपके यूजरनेम या पासवर्ड या अन्य तरह के डाटा को कलेक्ट करने के लिए होते हैं. यह वेबसाइट दिखने में ऑफिशियल वेबसाइट की तरह ही लगता है परंतु या ऑफिशियल वेबसाइट नहीं होती है इसमें यूजर नेम और पासवर्ड डालने के बाद यह वेबसाइट बंद हो जाती है.

सोशल मीडिया वेबसाइट को सर्च इंजन में सर्च करना: 

गूगल में किसी भी तरह के सोशल मीडिया वेबसाइट को शेयर ना करें इससे भी आप किसी वेबसाइट का शिकार हो सकते हैं तथा अपने प्राइवेट डाटा को गंवा सकते हैं. किसी भी सोशल मीडिया वेबसाइट पर अगर आपका अकाउंट हो तो आप उस सोशल मीडिया की ऑफिशियल वेबसाइट पर ही जाकर साइन इन करें.

हुबहू बैंकिंग परिस्थिति के जैसा ही इसमें भी होता है. ये वेबसाइट असली वेबसाइट के तरह दिखता है. लेकिन इसके यूआरएल यानी वेबसाइट का जो यूआरएल होता है वह अलग होता है. लेकिन ओरिजिनल यूआरएल से काफी मिलता-जुलता है.

Google में किसी मोबाइल एप्प को सर्च करना: 

दोस्तों हूं गूगल में भूल से भी किसी भी मोबाइल ऐप को डाउनलोड करके अपने मोबाइल में इंस्टॉल ना करें। अगर आपको किसी भी ऐप को डाउनलोड करना ही है तो आप गूगल प्ले स्टोर का उपयोग करें. अगर आप आईफोन यूज करते हैं तो आप ऐप स्टोर पर जाकर वहां से ऐप को डाउनलोड करके अपने मोबाइल में इनस्टॉल कर सकते हैं.

अगर आपने किसी भी तरह की गलत एप्लीकेशन को अपने मोबाइल में डाउनलोड कर लिया तो वह मोबाइल एप्लीकेशन आपके फोन पर पूरी तरह से नजर रखेगा आपका पूरा डाटा उस ऐप के जरिए हैकर्स तक जा सकता है.  मुंबई के एक व्यापारी के फोन में तीन मिस्ड कॉल आया और उसके बाद के बैंक अकाउंट से लगभग 3 करोड़ रुपए कट लिए गए.

आखिर यह कैसे संभव हो पाया. क्योंकि हैकर किसी न किसी माध्यम से उस व्यापारी के फोन में नजर रख रहे थे. जिसके बाद उन्हें मौका मिलते ही उसके मोबाइल डाटा से उसके बैंक अकाउंट से रुपए काट लिए गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *