वैश्विक महामारी कोरोनावायरस से त्रस्त अमेरिका अब आक्रामक तेवर अपना रहा है और अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्व स्वास्थ्य संगठन पर गंभीर आरोप लगाते हुए फंडिंग बंद करने का फैसला किया है जो डब्ल्यू एच ओ के लिए मुश्किल खड़ी कर सकता है क्योंकि आपको बता दें कि अमेरिकी फंड पर ही विश्व स्वास्थ्य संगठन अधिक चलता है।

आपको बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को लेकर बड़ा फैसला किया है। उन्होंने डब्ल्यूएचओ पर गंभीर आरोप लगाते हुए फंडिंग रोकने की बात कही। ट्रंप ने कहा, ‘विश्व स्वास्थ्य संगठन को अमेरिका से बड़ी मात्रा में धन प्राप्त होता है, उन्होंने मेरे द्वारा लगाये गये यात्रा पर प्रतिबंध की आलोचना की और असहमती जताई। वे बहुत सारी चीजों के बारे में गलत थे। वे बहुत चीन-केंद्रित लगते हैं। हम डब्ल्यूएचओ पर खर्च होने वाली रकम पर रोक लगाने जा रहे हैं।

यहां आपको बता दें कि चीन के वुहान से शुरू हुआ कोरोनावायरस को लेकर डब्ल्यू एच ओ पहले से ही चीन के प्रति नरम रुख अपनाते हुए कोरोनावायरस को गंभीरता से नहीं लिया और चीन के हां में हां मिलता रहा है पूरी दुनिया डब्ल्यू एच ओ की बातों को सुनता रहा है सतर्कता नहीं बरती लेकिन देखते देखते ही कोरोनावायरस की जद में पूरी दुनिया आ गई। लेकिन अब अमेरिका का डब्ल्यू एच ओ का फंडिंग रोकना क्या ऐहसास दिलाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here