महेंद्र सिंह धोनी को टीम इंडिया को अब तक के सबसे सफल कप्तानों में से एक माना जाता है। उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने आईसीसी वर्ल्ड कप और टी-20 वर्ल्ड कप दोनों जीते हैं। कई मैचों के दौरान कई बार बार ऐसा हुआ जब धोनी ने ऐसे फैसले लिए जिसने सभी को हैरान कर दिया और उनके अधिकतर फैसले सही भी साबित हुई। लेकिन धोनी भी एक इंसान है और किसी भी इंसान के सभी फैसले सही साबित नहीं होते। आज हम आपको धोनी के लिए ऐसे ही 4 फैसलों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो गलत साबित हुए।

 

1. इरफान पठान पर किए कई प्रयोग

महेंद्र सिंह धोनी ने अपनी कप्तानी के दौरान इरफान पठान पर कई प्रयोग किए, जिसके चलते पठान का करियर स्थिर नहीं हो सका और धीरे-धीरे समाप्त हो गया। धोनी ने पठान से कई बार पारी की शुरुआत कारवाई तो कभी नंबर 3 पर बल्लेबाजी करने के लिए आजमाया। इसके अलावा गेंदबाजी में भी उन पर कई प्रयोग किए गए।

2. इस बल्लेबाज को बार-बार मौका देना पड़ा टीम को भारी

टीम इंडिया को रोहित शर्मा और विराट कोहली जैसे कई धुरंधर बल्लेबाज देने वाले धोनी ने आईपीएल में मोहित शर्मा को कई मौके दिये। लेकिन मोहित कभी उनकी उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाये और फ्लॉप रहे। मोहित को बार-बार टीम में मौका देना भारतीय टीम के लिए गलत साबित हुआ।

3. इशांत शर्मा ने हराया भारत को !

साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे एक मैच में ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 3 ओवरों में 44 रनों की दरकार थी। मोहाली में खेले गए इस मैच में तब धोनी ने इशांत पर भरोसा दिखाया और 48वां ओवर फेंकने का मौका दिया। इस ओवर में इशांत ने 4 छक्के खाकर कुल 30 रन लुटा दिये और लगभग जीत को पक्का समझ रही भारतीय टीम ने यह मैच गवां दिया।

बतौर कप्तान धोनी के 4 बड़े फैसले जो गलत साबित हुए, एक के कारण तो गवां दिया था विश्व कप

4. युवराज को मौका देना पड़ा भारी

टी-20 विश्व कप 2014 के दौरान भारत और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे मैच में धोनी ने खराब फॉर्म में चल रहे युवराज सिंह को खेलने का मौका दिया। उनके इस निर्णय ने सभी क्रिकेट प्रेमियों को हैरान कर दिया। युवराज ने इस मैच में 21 गेंदों में महज 11 रन बनाए। उनकी इस धीमी पारी की वजह से भारतीय टीम यह मैच हार गई और दूसरी बार टी-20 चैंपियन बनने से चूक गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here