मध्य प्रदेश की राजनीति में खलबली जारी है। शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक फ्लोर टेस्ट करवाने से पहले ही सीएम कमलनाथ ने हाथ खड़े कर दिए। उन्होंने अपना इस्तीफा सौंप दिया और इसके साथ ही उनकी सरकार भी गिर गई। अब भाजपा अपनी सरकार बनाने के प्रयास कर रही है लेकिन अगर कमलनाथ ने इस्तीफे के बाद ये दांव चल दिया तो भाजपा सरकार भी नहीं बन सकेगी।

सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई थी भाजपा

अल्पमत में होने के बाद भी कमलनाथ बहुमत परीक्षण नहीं करवा रहे थे। उनको राज्यपाल ने दो बार आदेश दिया था। इसके बाद भी उन्होंने राज्यपाल की बात नहीं मानी थी। इसके बाद भाजपा सुप्रीम कोर्ट चले गई थी। वहां से फैसला भाजपा के पक्ष में आया और कोर्ट ने कांग्रेस सरकार को फ्लोर टेस्ट करवाने का आदेश दे दिया था। हालांकि इसके बाद ही कमलनाथ ने इस्तीफा दे दिया।

जानें कमलनाथ चल सकते हैं कौन सा दांव

कमलनाथ ने इस्तीफा तो दे दिया है लेकिन कमलनाथ एक बड़ा दांव चल सकते हैं। कमलनाथ अब इस कोशिश में लगे हैं कि किसी तरह विधानसभा ही भंग करवा दी जाए। इसके लिए वो बड़ा दांव चलते हुए अपने सभी विधायकों का सामूहिक इस्तीफा राज्यपाल को दे सकते हैं। हालांकि, गवर्नर इस मांग को मानने के लिए बाध्य नहीं हैं। फिर भी बिना विपक्ष के सरकार बनाना और चलाना नैतिक रूप से उचित नहीं होगा। ऐसे में राज्यपाल विधानसभा भंग कर करने की मांग मान सकते हैं। ऐसे में दोबारा चुनाव करवाने होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here