गुजरात पुलिस ने बीते दिनों एक करोड़ मूल्य के नकली नोटों को बरामद किया है.  इस घटना को सूरत पुलिस ने अंजाम दिया है और बीते शनिवार और रविवार को सूरत पुलिस ने भिन्न-भिन्न स्थानों पर छापेमारी की और इन नकली नोटों का पता लगाया और इसमें पहुंचे आरोपी गिरफ्तार हुए हैं.

RECEIVED ONE CRORE FAKE NOTE: एक करोड़ के नकली नोट हुए बरामत, आप भी रहें सावधान
FAKE NOTE

एक करोड़ के नकली नोट कहाँ से प्राप्त हुए?

पुलिस के मुताबिक अपराधियों से दो हजार के करीब 5013 नकली नोट बरामद किए हैं. इन नोटों की वैल्यू ₹1,00,26,000 बताई जाती है जो कि नोटों की फेस वैल्यू है. तथा पुलिस टीम ने सूरत में ही शनिवार को कवरेज स्थित एक फार्महाउस से प्रतीक सूट वाडिया को पकड़ा तथा उनके पास से 203 नकली नोट मिले हैं.

जांच पड़ताल के दौरान प्रवीण अन्य 4 आरोपियों के नाम बताएं प्रवीण ने जब सूचना दी तो उसके आधार पर सूरत पुलिस ने रविवार को खेड़ा जिले के अंबाव गांव में स्वामीनारायण मंदिर के एक रूम पर छापा मारा है और पुजारी को गिरफ्तार कर लिया है. स्वामी राधा रमन नाम के इस मंदिर के पुजारी से करीब ₹5000000 के नकली नोट मिले हैं तीन अन्य लोग प्रवीन चोपड़ा कालू चोपड़ा और मोहन मधुर डे को सूरत जिले के ही साथ आना से पुलिस की कस्टडी में ले लिया है.

दोस्तों आप सभी से गुजारिश है कि आप भी अगर कहीं पर किसी भी तरह के इस तरह की आपत्तिजनक रुपए का कोई अगर मालिक है तो गुप्त रूप से पुलिस को सूचना जरूर दें दें. इससे होगा यह कि आप देश के विकास में आप महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं क्योंकि इन्हीं रूपों के चलते पूरे देश का अर्थव्यवस्था नष्ट होने लगता है.

 और आप भी इस तरह के घटना के शिकार ना बने लिए सतर्क रहें किसी भी रुपए के लेन-देन में सावधानी बरतें तथा जांच परख कर ही किसी रुपए पैसे को लें.  क्योंकि पहले कहा जा रहा था कि 2000 और ₹500 के नोटों का नकली नोट छपा नहीं जा सकता परंतु पुलिस को यह रुपए कैसे मिल रहे हैं. यह सभी आरोपियों की चाल है कि बिना मेहनत के ही रुपए बनाने लगे. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here