हमारे देश के लगभग सभी बड़े बिजनेस मैन हमेशा यही फिराक में रहते हैं कि ग्राहकों को अच्छी सेवाएं कैसे दी जाए ताकि जीवन को और भी आसान बनाया जा सके। देश के लोगों का तो जीवन आसान तो होता ही है साथ मे देश के हालत में भी काफी सुधार होता है। और रोजगार के साथ साथ देश के अर्थव्यवस्था में भी काफी सुधार होने लगता है। Jio 5G के आने से होगा.

अम्बानी कितने रुपए का कर्ज ले रहे हैं

Jio 5G
Jio 5G Tower

जब भारत मे 4G इंटरनेट कनेक्शन नहीं थे तब मुकेश अंबानी ने हर संभव प्रयास करके देश के सभी क्षेत्रों में बेहतर अनुभव होने वाला इंटरनेट कनेक्शन प्रदान कराया है. ठीक वैसा ही एकबार फिर होने वाला है कि मुकेश अंबानी देश मे सबसे पहले 5G इंटरनेट कनेक्शन देने के लिए सभी संभव उपाय कर रही है.

मुकेश भाई अम्बानी का विदेशी बैंकों से बातचीत चल रही है. मुकेश अंबानी विदेशी बैंकों से लगभग 3500 करोड़ रूपए कर्ज लेंगे. और भारत मे बेहतर अनुभव होने वाला इंटरनेट सेवा प्रदान कराएंगे. बहुत सारे बैंडविड्थ की जरूरत पड़ेगी और इसमें बेहतर अनुभव होने के लिए बेहतर स्पेक्ट्रम की भी आवस्यकता है जिनका खर्च काफी ज्यादा होता है.

भारत देश के सबसे अमीर व्यक्ति को क्यों लेना पड़ रहा है कर्ज

Jio 5G
Jio 5G Tower

आप सोच सकते हैं कि भारत देश के सबसे अमीर व्यक्ति को कर्ज लेने की आवश्यकता पड़ रही है. मतलब यह है कि बेहतर ऑप्टिक फाइबर की जरूरत है जिसमे काफी रुपयों का इन्वेस्टमेंट होगा. जिसका अनुभव काफी मजेदार होने वाला है. फेसबुकइंस्टाग्रामयूट्यूब या ट्वीटर पर काफी चर्चे में यह खबर है.

यह भी पढ़ सकते है: 
जय श्री राम नहीं बोलने पर युवक की हुई जमकर पिटाई

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो मुकेश अम्बानी की मदद एशिया के ही बैंको से ही होने वाली है. बीते दिनों यह बात चर्चे में आई थी कि मुकेश अम्बानी लगभग 12,840 करोड़ रुपये का कर्ज लेगी. मुकेश अम्बानी 3.6 फीसदी से 3.7 फीसदी तक कर्ज जमा करने की सोच रहे हैं.

Jio 5G के आने से और सभी टेलीकॉम कंपनी पर असर

Jio 5G
Jio 5G Network

टेलीकॉम रेगुलेटरी ट्राई का कहना यह है कि सितंबर महीने में 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी करेगी. और यही वजह बन रही है कि 5G सर्विस के लिए Jio तेजी से अपने क्षेत्र में कार्य कर रही है. इसमे 3300 से 3600 मेगाहर्ट्ज बैंड स्पेक्ट्रम की नीलामी होगी जोकि 5G कनेक्टिविटी के लिए काफी है. टेलीकॉम रेगुलेटरी ट्राई  एक बड़ी समस्या को लेकर आ सकते हैं कि इन हाई मेगाहर्ट्ज बैंड स्पेक्ट्रम की कीमत में काफी बढ़ोत्तरी न कर दे.

यह भी पढ़ सकते है: 
20 GB हाई स्पीड फ्री डाटा दे रहा एयरटेल, जियो को लगेगा झटका

जहाँ तक अगर बात की जाए Jio के अलावा तो सभी टेलीकॉम कंपनीयां एक आउटडेटेड इंटरनेट कनेक्टिविटी को बेहतर करने में लगे हुए हैं. जिसका मतलब यह है कि Jio 5G आ जाने के बाद बाकी सभी कंपनी को मार्किट से बाहर होना पड़ेगा. जिस तरह से Jio के 4G सर्विस आने पर हुआ था ठीक उसी तरह का माहौल एकबार फिर Jio की तरफ से की जा रही है.

Jio 5G के आने से Airtel और BSNL को बड़ा खतरा

स्पष्ट होता हुआ यह नजर आ रहा है कि Jio 5G के आ जाने के बाद jio का एकाधिकार हो जाएगा. जिसके बाद एयरटेल या BSNL जैसी बड़ी कंपनियां भी बंद हो सकती है. मुकेश अम्बानी काफी तेज गति से Jio 5G की तैयारी कर रही है जिसका फायदा तो Jio और 5G फ़ोन बनाने वाली कंपनी दोनो को होगी. और सबसे बड़ा नुकसान देश के उन टेलीकॉम कंपनियों को होगा जो काफी समय से मार्केट में टिके हुए हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here