रात में शादी हुई, लड़के वाले लड़की को अपने साथ विदा करके ससुराल लेकर जा रहे थे दोनों भविष्य के बारे में सोच रहे थे. लड़की को अपने माँ-पापा से बिछड़ने का दर्द था. और लड़का अपने भविष्य में आनेवाली सभी जिम्मेदारी को उठाने के लिए तैयार हो ही रह था.

रात में हुई थी शादी, लेकिन शुबह मंगलवार को हो गई गाड़ियों में टक्कर

हाइलाइट्स:

  • दुल्हन का नाम नेहा कुमारी था और वो अपने माता पिता की इकलौती बेटी थी.
  • दूल्हा उज्वल कुमार है बहुत हीं गंभीर रूप से घायल.
  • इसीलिए मैं आपसे हाथ छोड़कर कहता हूं कि वाहन हमेशा धीरे चलाएं.
  • दूल्हा और दुल्हन दोनो को औरंगाबाद सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

लड़की के इतना उदास होने से लड़के का भी मन नही लग रहा था. इसीलिए दूल्हा अपने पत्नी को मना रहा थी कि तुम चिंता मत करो. परंतु यह सब खुदा, भगवान जो भी हैं उन्हें पसंद नही आई.

यह भी पढ़ लें
धनुष तोप जो दुश्मनों के छुड़ाएंगे छक्के, भारतीय सेना में होगा आज शामिल

दुल्हन के माता पिता तो दुखी थे हीं लेकिन ऊपरवाले ने और इतना दुखी कर दिया कि उन्हें और दुःख होने लगा. और दुल्हन के साथ साथ दूल्हे के परिवार का भी दुनिया उजर गया.

भगवान ने दोनों को रात में शादी के बंधन से दोनों को सात जन्मों के लिए जोड़ा. और शुबह दोनो को इस कदर अलग किया कि शायद कभी वापस ही न आ सकता है.

यह घटना कहाँ हुई है?

दरअसल यह घटना औरंगाबाद के अम्बा पथ की है. जहां पर दो वाहनों के जबरदस्त टक्कर से ये दुखी करने वाला हादसा हुआ. यह घटना दोस्ताना होटल के सामने मंगलवार के सुबह सुबह हीं हुआ है.

दुल्हन का नाम नेहा कुमारी था और उनका टक्कर के कुछ देर बाद ही मौत हो गई. वहीं बात करें अगर दूल्हे उज्जवल कुमार की तो वह बहुत ही गंभीर रूप से घायल हैं और उनका इलाज औरंगाबाद सदर अस्पताल में हो रही है.

दुलन और दूल्हे के माता पिता और उनका पता क्या है?

बताया जा रहा है कि इन नवीनगर थाना क्षेत्र के लखनपुर गांव के आल्हा सिंह के इकलौती बेटी नेहा कुमारी का शादी उज्जवल सिंह के साथ सोमवार रात को संपन्न हुई थी. परंतु सुबह ही गाड़ियों के जोरदार टक्कर से दुल्हन नेहा कुमारी का तुरंत ही मौत हो गया इससे उनके परिवार वाले बहुत ही ज्यादा दुखी हैं और हमेशा रोते नजर आ रहे हैं.

यह भी पढ़ लें
नरसिंहपुर में 5 साल की बच्ची के साथ हुआ बलात्कार

ओबरा थाना के चिचाढ़ी गांव के निवासी इंद्रदेव सिंह का बेटा दूल्हा उज्जवल कुमार उर्फ बबलू कुमार सिंह थे. परंतु जैसा कि मैंने आपको बताया कि सोमवार रात को दोनों की शादी हुई परंतु सुबह मंगलवार का सुबह उन दोनों के लिए बिछड़ने का सबसे बड़ा समय बन गया.

क्या सच मे दुल्हन मृत घोषित हो चुकी हैं?

दूल्हा दुल्हन इन दोनों का इलाज औरंगाबाद सदर अस्पताल में हो रहा है. जहां चिकित्सकों ने यह कह दिया है कि दुल्हन की मृत्यु हो गई है. यानी चिकित्सकों ने दुल्हन को मृत घोषित कर दिया है परंतु वही अगर बात करें दूल्हे की तो वह भी अपनी जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहे हैं. खुशियों का मौसम एक दम तुरंत ही दुखी का मौसम बन गया दोनों परिवार के तरफ पूरा दुखों का माहौल बरसा पड़ा है.

आपसे एक विनती

इस तरह की वारदात को देखकर किसी भी व्यक्ति की आंखों में नमी आ जाएगी. इसीलिए मैं यानी विकाश आपसे हाथ जोड़कर कहता हूं कि वाहन को हमेशा धीरे चलाएं. हो सकता है कि आपको अपने लिए चिंता ना हो परंतु आपके लिए किसी और की चिंता जरूर है.

यह भी पढ़ सकते है:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here