अमेरिका ने पिछले साल ईरान पर परमाणु की जानकारी छिपाने का आरोप लगाकर उस पर कई तरह के योजनाओं पर प्रतिबंध लगा दिए थे। जिसके चलते कई देशों में तेल के आयात पर बड़े फैसले ले रही है वही भारत भी ईरान से तेल खरीदने पर कड़े फैसले ले रही है कि भारत मे तेल की खरीदारी पर लगभग रोक लगा रही है। भारत ने ईरानी तेल पर अपनी निर्भरता 2.5 अरब टन महीने के आयात से घटाकर 10 लाख टन पहुंचा दी है।

ईरान को बड़ा झटका, तेल नही खरीदेगा भारत
ईरान को बड़ा झटका, तेल नही खरीदेगा भारत

हाइलाइट्स:

  • भारतीय राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि ईरान से तेल आयात पर पूरी रोक लगनी चाहिए।
  • छूट खत्म होते ही 5 देश ईरान से तेल नही खरीदेंगे।
  • वर्तमान में भारत मे तेल का आयात 2.5 अरब टन से घटाकर 10 लाख टन हो गया है।

जो 5 देश ईरान से तेल के आयात पर रोक लगा रहे हैं, इसमें ग्रीस, इटली, ताईवान और तुर्की शामिल हैं। भारत मे लगभग 10% तेल की पूर्ति ईरान से होती थी जो कि अब दूसरे देशों से भारत को तेल पर निर्भकर होना पड़ेगा।

इससे ईरान को बहुत बड़ा झटका लगेगा कि उसके तेल के निर्यात में काफी गिरावट आने के कारण क्योंकि 2.5 अरब टन हर महीने केवल भारत ही खरीद लेता था। भारतीय राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने यह जानकारी को पूरी देश को दिया कि ईरान परमाणु शक्ति को पूरी दुनिया से छुपाने की साजिश कर रहा है।

यह भी पढ़ सकते हैं

नरेंद्र मोदी के साथ ईरान के काफी अच्छे सम्बन्ध होते हुए भी भरतीय सरकार को यह फैसला लेना पड़ रहा है। क्योंकि यह राष्ट्र सुरक्षा की बात है। आप मुझे कमेंट बॉक्स में बताइए कि ये सही हुआ और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई है तो इसे लाइक जरूर कर दीजियेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here