बिहार की राजधानी पटना के सरिस्ताबाद छात्र समिति गर्दनीबाग पटना ने वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप की 480वी जयंती पर पुष्पांजलि दी एवं अपने विचार रखे

सरिस्ताबाद छात्र समिति गर्दनीबाग पटना ने वीर शिरोमणि महाराणा प्रताप जी के 480वी जयंती पर लॉकडाउन की वजह से सोशल डिस्टेसिग का पालन करते हुए महाराणा प्रताप जी की तस्वीर पर पुष्पांजलि अर्पित की एवं सदस्यों ने विचार रखे। समिति के अध्यक्ष यश राज सिंह ने कहा कि मां भारती के वीर सपूत महाराणा प्रताप जी का जन्म 9 मई 1540ई को राजस्थान के कुंभलगढ़ किले में हुआ था, भारतीय इतिहास में महाराणा प्रताप की बहादुरी की चर्चा जितनी की जाए उतनी कम है, उतनी ही प्रंशसा उनके घोड़े चेतक को भी मिली,मुगलों के सामने ना झुकने की प्रतिज्ञा उनको विरासत से मिली।

उपाध्यक्ष प्रशुन गौरव ने कहा कि महाराणा प्रताप महान स्वाभिमानी, क्षत्रिय कुल भूषण,सत्य सनातन धर्म की आन बान शान थे।

कोषाध्यक्ष विकास कुमार एवं हर्ष राज सिंहने कहा कि महाराणा प्रताप जी एक ही झटके में घोड़े समेत दुश्मन सैनिकों को काट डालते थे।

समिति के सभी सदस्य एवं प्रधान महासचिव चंदन राज ने मुगलो के धूल चटाने वाले सनातन धर्म भगवा रक्षक महाराणा प्रताप जी को नमन किया

कार्यक्रम की अध्यक्षता यश राज सिंह एवं धन्यवाद ज्ञापन प्रशुन गौरव ने एक कविता पढ़ समापन किया
फीका पड़ा था तेज सूरज का
जब तू माता ऊंचा करता था
थी तुझमें कोई बात राणा
अकबर भी तुमसे डरता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here