जनवरी 27, 2020

चंद्रयान 2: इसरो से आई बहुत बड़ी खुशखबरी, बताया ऐसे होगा लैंडर विक्रम से संपर्क

चंद्रयान 2 मिशन इसरो के लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण मिशन में से एक है. Chandrayaan-2 चंद्रमा के कुछ अनसुलझे राशियों पर पर्दा डालने के लिए चंद्रयान 2 लैंडर ‘विक्रम‘ चंद्रमा की सतह पर उतरा है. परंतु हो लैंडर विक्रम ने हार्ड लैंडिंग के जरिए चंद्रमा के दक्षिणी सतह पर लैंड किया है. चंद्रमा की सतह पर लैंड करने से पहले ही इसरो का संपर्क लैंडर विक्रम से टूट गया था. जिसके बाद फिर कभी भी संपर्क नहीं हो पाया है.

आखिर कैसे होगा लैंडर विक्रम से संपर्क



परंतु अभी यह खबर आ रही है कि लैंडर विक्रम से संपर्क होगा. तो चलिए जानते हैं कि लैंडर विक्रम से किस तरीके से संपर्क होगा, अगर यह संपर्क कामयाब नहीं हो पाता है तो फिर इससे जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी आने वाली है. तो इसकी पूरी जानकारी मैं आपको आगे पोस्ट में देता हूं उससे पहले आप ऊपर या फिर नीचे दिए गए फॉलो बटन पर क्लिक करके फॉलो जरूर कर लें.

जैसा कि इसरो ने पहले भी कहा था कि चंद्रमा की सतह पर जैसे ही सूरज की रोशनी पड़ती है तो लैंडर का पता चलेगा. और यह काम चंद्रमा की सतह से ऊपर चंद्रमा का चक्कर लगा रहे ऑर्बिटर करेेगा. दरअसल चंद्रमा पर रोशनी पड़ने वाली है उस जगह जहां पर लेंडर विक्रम ने हार्ड लैंडिंग की है. चंद्रमा की सतह से 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित और ऑर्बिटर इसकी कुछ फोटो लेगा और यह फोटो बहुत ही ज्यादा साफ और अध्ययन में मदद करने वाला होगा.

वैज्ञानिकों की मानें तो चंद्रमा की सतह पर रोशनी पड़ने वाली है. जहां पर लैंडर विक्रम ने हार्ड लैंडिंग की है. रोशनी पड़ते ही लैंडर विक्रम में लगे सौर पैनल एक्टिव हो जाएगी. जिसके बाद लैंडर विक्रम अगर संपर्क करने की दशा में होगा तब इसरो लैंडर विक्रम तक संपर्क करनेे की कोशिश करेगा. जिसमें यहां से कुछ प्रभावशाली तरंगे भेजेगा. और इन्हीं प्रभावशाली सिगनल्स की वजह से ऑर्बिटर और लैंडर विक्रम में संपर्क स्थापित हो जाएगा.

NASA और दुनिया भर की स्पेस एजेंसी इसरो का साथ दे रहे हैं

फिलहाल अभी लैंडर विक्रम से संपर्क नहीं हुई है. लेकिन मैं आपको बता दूं कि ऑर्बिटर ने चंद्रमा के कुछ इमेजेस लिए हैं. जिस पर अभी अध्ययन जारी है. जिसमें बहुत सारी तत्व जैसे अल्मुनियम, सिलिकॉन, लोहे जैसे तत्वों की जानकारी हो सकती है.

नासा ने कुछ दिन पहले कुछ इमेजेस लिए थे.  जिसमें नासा ने यह दावा किया था, कि यह सारे फोटोस इसरो द्वारा भेजे गए चंद्रयान 2 लैंडर विक्रम का हैं. परंतु चित्र काफी अंधेरे में लिया गया था. जिसकी वजह से बहुत सारी डिटेल्स उस फोटो में नहीं थी. काफी समय तक नासा ने उस फोटो पर अध्ययन करने के बाद यह कहा कि हम फिर अगले बार चंद्रमा से सतह पर भेजे गए chandrayaan-2 के लैंडर विक्रम के इमेजेस लेंगे.

NASA इस दिन लेगा चंद्रयान 2 के लैंडर विक्रम की तस्वीर


नासा ने chandrayaan-2 लैंडर विक्रम का फोटो अपने ऑर्बिटर द्वारा लिया था. यह ऑर्बिटर 17 अक्टूबर को उसी स्थान से होकर गुजरेगा. जहां पर chandrayaan-2 के लैंडर विक्रम है. खुशी की बात यह है कि उस समय चंद्रमा के उस सतह पर सूरज की रोशनी साफ-साफ पड़ेगी जिसके बाद लेंडर विक्रम की स्थिति तथा तथा हमें सही तरीके से मालूम हो पाएगा.

चंद्रयान 2 तथा चंद्रयान से जुड़ी आने वाली कोई भी खबर हम सबसे पहले आपको देंगे इसके लिए आप नीचे दिए गए फॉलो बटन पर क्लिक कर दीजिए.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *